श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के उत्सव की धूम है। जगमग रोशनी में मंदिरों की भब्यता देखने लायक ……

पत्थलगांव ✍️जितेन्द्र गुप्ता

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के उत्सव की धूम है।

 

शुक्रवार को सुबह से ही भक्तों का सैलाब श्रीकृष्ण जन्माष्ठमी के दिन मन्दिर में पहुचने लगे पूरे मन्दिर परिसर के साथ मन्दिर को भब्य रूप से सजाया गया है। जो देखने मे आनन्द का उत्सव जैसा लग रहा है। मन्दिर पहुँचे भक्त कान्हा के जन्म के साक्षी बनने के लिए आ रहे हैं।

जन्माष्टमी के अवसर पर खास कर महिलाये बच्चे श्रीकृष्ण मन्दिर में पहुचकर पूजा कर भगवान श्री कृष्ण से अपने और अपने परिवार के लिए सुख शांति एवं समृद्धिशाली होने के आशीर्वाद मांग रहे है।


पूरे शहर के अन्य मंदिरों में भी जन्माष्टमी की धूम है। यहां उत्सव का दौर प्रात:काल से ही शुरू हो गया था। कान्हा के जन्म से पहले भक्तों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। श्रीकृष्ण जन्मभूमि पे मन्दिर में भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी है। श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर परिसर में राधे-राधे के जयकारों की गूंज है। भक्त कृष्ण भजनों से भक्ति की बयार बहा रहे हैं। श्रद्धालु भी भक्ति में सराबोर होकर मन्दिर में झूम रहे हैं।


श्याम मंदिर को भी पूरे भब्यता से सजाया गया है। जो देखने लायक है। मन्दिर परिसर की भब्यता से भक्त पूरी तरह भक्ति में झूम रहे है। मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी है। बहुत से घरों में भी कान्हा के जन्मोत्सव की धूम है। अपने अपने तरीके से सज सजावट कर जन्मोत्सव की प्रतीक्षा रत है।


शाम होते ही पूरा मन्दिर परिसर अपनी जगमग रोशनी से पूरी तरह जगमगा रही है।

जो मन को सुखद अहसास दिला रहा है। भक्त तरह तरह के परिधान से सुसज्जित होकर भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव पर मन्दिर पहुच रहे है। रात 12 बजे के बाद कृष्ण कन्हाई जन्म लेंगे। जन्मोत्सव पे कान्हा के दर्शन के लिए भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी है।